Ghazal For Soul

Ghazal For Soul

Ghazal for Soul is the journey with insightful poetry, philosophy, soulful music, and beautiful compositions. We are trying to Spread the Graceful culture of Ghazal, Shayari through our different Activities. From Ghalib Sahab to Nida Sahab we have experienced the journey of Ghazal, Nazm and different forms of poetry. The important thing is that we get an insight about life and we get inspiration also when we read and listen to these great poets. We are trying to spread the message of HUMANITY through this beautiful and philosophical form of literature, the world in which we are living should be more compassionate, more cultured more beautiful and for that Ghazal and any kind of good literature, Art can play great Role.

We offer Tribute to all great poets, writers, reformist, Artist who belongs to Humanity and compassion. I request you all that please join us on this beautiful journey GHAZAL FOR SOUL.

Please join us on this beautiful journey.

Ghazal For Soul is a project by Ghazal singers Alhad and Swati Kashikar. Above all, the project is an embodiment of our love for the surreal blend of matter and abstract known as Ghazal.

#ghazalforsoul

  • मैं जब भी उस के ख़यालों में खो सा जाता हूँ वो ख़ुद भी बात करे तो बुरा लगे है मुझे 
मैं सोचता था कि लौटूँगा अजनबी की तरह 
ये मेरा गाँव तो पहचानता लगे है मुझे - जाँ निसार अख़्तर #ghazalnama
ghazalforsoul.com #Rekhta 
Read full #Ghazal: facebook.com/ghazalforsoul

चलिए हमारे साथ ग़ज़ल के इस सफर पर, ग़ज़ल के नए-पुराने आयामों और मुकामों को छूकर गुज़रते हुए।
#Shayari #life #MirzaGhalib #followforfollow #followme #follow #Gulzar #Poetry #TikTok #photooftheday #instamood #motivation #Book #instadaily #life #Love #Book #Music #HindiPoetry
Managed and Designed by @info10media
  • इक और खेत पक्की सड़क ने निगल लिया 
इक और गाँव शहर की वुसअत में खो गया - ख़ालिद सिद्दीक़ी #ghazalnama #rekhta
ghazalforsoul.com #KhalidSiddiqui

चलिए हमारे साथ ग़ज़ल के इस सफर पर, ग़ज़ल के नए-पुराने आयामों और मुकामों को छूकर गुज़रते हुए।
#Shayari #life #MirzaGhalib #followforfollow #followme #follow #Gulzar #Poetry #TikTok #photooftheday #instamood #motivation #Book #instadaily #life #Love #Book #Music #HindiPoetry
Managed and Designed by @info10media
  • तेरे होते हुए महफ़िल में जलाते हैं चराग़ 
लोग क्या सादा हैं सूरज को दिखाते हैं चराग़ 
अपनी महरूमी के एहसास से शर्मिंदा हैं ख़ुद नहीं रखते तो औरों के बुझाते हैं चराग़ - अहमद फ़राज़ http://ghazalforsoul.com
#ghazalnama #AhmadFarz

चलिए हमारे साथ ग़ज़ल के इस सफर पर, ग़ज़ल के नए-पुराने आयामों और मुकामों को छूकर गुज़रते हुए।
#Shayari #life #MirzaGhalib #followforfollow #followme #follow #Gulzar #Poetry #TikTok #photooftheday #instamood #motivation #Book #instadaily #life #Love #Book #Music #HindiPoetry
Managed and Designed by @info10media
  • नहीं आती तो याद उन की महीनों तक नहीं आती
मगर जब याद आते हैं तो अक्सर याद आते हैं
हक़ीक़त खुल गई 'हसरत' तिरे तर्क-ए-मोहब्बत की
तुझे तो अब वो पहले से भी बढ़ कर याद आते हैं
- हसरत मोहानी #Ghazalnama #Sunday
ghazalforsoul.com #HasratMohani

चलिए हमारे साथ ग़ज़ल के इस सफर पर, ग़ज़ल के नए-पुराने आयामों और मुकामों को छूकर गुज़रते हुए।
#Shayari #life #MirzaGhalib #followforfollow #followme #follow #Gulzar #Poetry #TikTok #photooftheday #instamood #motivation #Book #instadaily #life #Love #Book #Music #HindiPoetry
Managed and Designed by @info10media
  • अशआ'र मिरे यूँ तो ज़माने के लिए हैं कुछ शेर फ़क़त उन को सुनाने के लिए हैं अब ये भी नहीं ठीक कि हर दर्द मिटा दें कुछ दर्द कलेजे से लगाने के लिए हैं - जाँ निसार अख़्तर #SundayFeeling
ghazalforsoul.com #JaanNisarAkhtar
Full #Ghazal: facebook.com/ghazalforsoul

चलिए हमारे साथ ग़ज़ल के इस सफर पर, ग़ज़ल के नए-पुराने आयामों और मुकामों को छूकर गुज़रते हुए।
#Shayari #life #MirzaGhalib #followforfollow #followme #follow #Gulzar #Poetry #TikTok #photooftheday #instamood #motivation #Book #instadaily #life #Love #Book #Music #HindiPoetry
Managed and Designed by @info10media
  • Born on this day Ali  Sardar Jafri championed the cause of secularism.
मैं जहाँ तुम को बुलाता हूँ वहाँ तक आओ 
मेरी नज़रों से गुज़र कर दिल-ओ-जाँ तक आओ 
फिर ये देखो कि ज़माने की हवा है कैसी 
साथ मेरे मिरे फ़िरदौस-ए-जवाँ तक आओ - अली सरदार जाफ़री #BirthAnniversary

चलिए हमारे साथ ग़ज़ल के इस सफर पर, ग़ज़ल के नए-पुराने आयामों और मुकामों को छूकर गुज़रते हुए।
#Shayari #life #MirzaGhalib #followforfollow #followme #follow #Gulzar #Poetry #TikTok #photooftheday #instamood #motivation #Book #instadaily #life #Love #Book #Music #HindiPoetry
Managed and Designed by @info10media cc @bullockcartpoetry
  • सभी को ग़म है समुंदर के ख़ुश्क होने का 
कि खेल ख़त्म हुआ कश्तियाँ डुबोने का 
बरहना-जिस्म बगूलों का क़त्ल होता रहा 
ख़याल भी नहीं आया किसी को रोने का - शहरयार #ghazalnama #Shair
ghazalforsoul.com #Shahryar
Read Full #Ghazal: Facebook.com/GhazalForSoul 
चलिए हमारे साथ ग़ज़ल के इस सफर पर, ग़ज़ल के नए-पुराने आयामों और मुकामों को छूकर गुज़रते हुए।
#Shayari #life #MirzaGhalib #followforfollow #followme #follow #Gulzar #Poetry #TikTok #photooftheday #instamood #motivation #Book #instadaily #life #Love #Book #Music #HindiPoetry
Managed and Designed by @info10media
  • ख़ून से तर-ब-तर कर के हर रहगुज़र थक चुके जानवर 
लकड़ियों की तरह फिर से चूल्हे में जल जो हुआ सो हुआ 
जो मरा क्यूँ मरा जो लुटा क्यूँ लुटा जो जला क्यूँ जला 
मुद्दतों से हैं ग़म इन सवालों के हल जो हुआ सो हुआ - निदा फ़ाज़ली #NeverForget #2611Attack #Mumbai
#RememberingTheHeroes of #2611MumbaiAttacks

चलिए हमारे साथ ग़ज़ल के इस सफर पर, ग़ज़ल के नए-पुराने आयामों और मुकामों को छूकर गुज़रते हुए।
#Shayari #life #MirzaGhalib #followforfollow #followme #follow #Gulzar #Poetry #TikTok #photooftheday #instamood #motivation #Book #instadaily #life #Love #Book #Music #HindiPoetry
Managed and Designed by @info10media cc @
  • इक रात वो गया था जहाँ बात रोक के 
अब तक रुका हुआ हूँ वहीं रात रोक के - फ़रहत एहसास #ghazalanama
ghazalforsoul.com #Sunday

चलिए हमारे साथ ग़ज़ल के इस सफर पर, ग़ज़ल के नए-पुराने आयामों और मुकामों को छूकर गुज़रते हुए।
#Shayari #life #MirzaGhalib #followforfollow #followme #follow #Gulzar #Poetry #TikTok #photooftheday #instamood #motivation #Book #instadaily #life #Love #Book #Music #HindiPoetry
Managed and Designed by @info10media cc @shatakshi.gawade
  • आहन (Iron) में ढलती जाएगी इक्कीसवीं सदी 
फिर भी ग़ज़ल सुनाएगी इक्कीसवीं सदी 
बग़दाद दिल्ली मास्को लंदन के दरमियाँ बारूद भी बिछाएगी इक्कीसवीं सदी -  बशीर बद्र #ghazalnama #BashirBadr 
ghazalforsoul.com #21stCentury
Read Full #Ghazal: facebook.com/GhazalForSoul

चलिए हमारे साथ ग़ज़ल के इस सफर पर, ग़ज़ल के नए-पुराने आयामों और मुकामों को छूकर गुज़रते हुए।
#Shayari #life #MirzaGhalib #followforfollow #followme #follow #Gulzar #Poetry #TikTok #photooftheday #instamood #motivation #Book #instadaily #life #Love #Book #Music #HindiPoetry
Managed and Designed by @info10media cc @

Follow @GhazalForSoul on Instagram